Search
Close this search box.

मणिपुर में भड़की हिंसा, इंटरनेट की सुविधा बंद, सरकार दहशत में, जानें क्या है वजह?

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

Manipur / Imphal- मणिपुर सरकार प्रदेश में हिंसा के खतरे को लेकर खौफजदा हैं. इसलिए यहाँ पर सरकार ने अगले पांच दिनों तक Internet Service बंद करनें का फैसला लिया है. सरकार द्वारा यह प्रतिबंध Social Media पर चल रही गलत खबरों और अफवाहों को रोकने के लिए लगाया गया है। इसी संबंध में राज्य सरकार ने शनिवार को यह आदेश जारी कर दिए हैं। आपको बता दें कि एच ज्ञान प्रकाश,(GyanParkash) विशेष सचिव (गृह) ने जारी आदेश में कहा कि मणिपुर के पुलिस महानिदेशक ने उन्हें राज्य में हिंसा के बारे में बताया कि और कहा कि स्थिति नियंत्रण में नहीं लाने से हालात बिगड़ सकते हैं। जिसके लिए उचित कदम उठायें जा रहें है.

वही दूसरी तरफ मणिपुर में ऑल ट्राइबल स्टूडेंट्स यूनियन, मणिपुर (ATSUM) के द्वारा राज्य में आर्थिक नाकाबंदी लगा दी है. इसके अलावा प्रदेश में हिंसक घटनाओं की श्रृंखला लगातार जारी है. उपद्रवियों द्वारा शनिवार को तीन वाहनों को जलाने सहित कार्यालयों पर हमला करने की घटना को अंजाम दिया गया है। एटीएसयूएम ने स्वायत्त जिला परिषद विधेयक मणिपुर विधानसभा में पेश करने की मांग की और दो विधेयक पेश किए जा चुके हैं और एक पारित हो चुका है। इस बाबत पुलिस ने नाकाबंदी लगाने के चलते एटीएसयूएम के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया है।

इस बारे में ज्ञान प्रकाश ने कहा कि अपराध ने राज्य में सांप्रदायिक और अस्थिर कानून व्यवस्था की स्थिति पंप रही है। कुछ असामाजिक तत्व सोशल मीडिया पर इसकी तस्वीरें, भडकाऊ भाषण और नफरत वाले वीडियो संदेश जनता के बीच भेज रहे हैं। सोशल मीडिया जनता में अफवाह फैलाने का एक सबसे बड़ा उपकरण बन गया है। जिससे राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति पर काफी गंभीर असर हो सकता है। इसके लिए प्रदेश में इन्टरनेट सेवाओं को बंद किया गया है.

Firenib
Author: Firenib

EMPOWER INDEPENDENT JOURNALISM – JOIN US TODAY!

DEAR READER,
We’re committed to unbiased, in-depth journalism that uncovers truth and gives voice to the unheard. To sustain our mission, we need your help. Your contribution, no matter the size, fuels our research, reporting, and impact.
Stand with us in preserving independent journalism’s integrity and transparency. Support free press, diverse perspectives, and informed democracy.
Click [here] to join and be part of this vital endeavour.
Thank you for valuing independent journalism.

WARMLY

Chief Editor Firenib

3,282 Responses

  1. best india pharmacy [url=https://indiapharmacy.site/#]п»їlegitimate online pharmacies india[/url] online shopping pharmacy india

  2. india pharmacy mail order [url=https://indiapharm.llc/#]pharmacy website india[/url] buy medicines online in india indiapharm.llc