website average bounce rate

Forest News: पौधारोपण अनियमितता मामले में वन अधिकारी संस्पेड


Forest News: उत्तराखंड में हरेला पर्व के दौरान वन विभाग प्रदेशभर में मुहिम चलाकर पौधारोपण करवाता है। लेकिन यह मुहिम और प्रयास इसलिए हमेशा सवालों में रहे हैं, क्योंकि किए गए पौधारोपण का सक्सेस रेट आज तक वन विभाग नहीं बता पाया है। इन्हीं, सवालों के बीच शासन की एक कार्रवाई ने प्रदेश में होने वाले पौधारोपण कार्यक्रम को शक की निगाह से देखने पर मजबूर कर दिया। शासन ने वन विभाग की एक अधिकारी को सस्पेंड किया है। अधिकारी पर प्लांटेशन मामले में अनियमितता के पूर्व में आरोप थे।

पौधारोपण में अनियमितता बनी वजह


उत्तराखंड वन विभाग में तैनात सहायक वन संरक्षक को प्रसाशन ने सस्पेंड कर दिया है। निलंबित करने की वजह पूर्व में प्लांटेशन को लेकर अनियमितता का एक मामला बताया जा रहा है। इसको लेकर काफी लंबे समय से जांच चल रही थी। बता दें कि उत्तराखंड वन विभाग हर साल पौधारोपण की बड़ी मुहिम चलाता है और लाखों पौधे लगाने का दावा भी करता है। लेकिन महकमा आज तक यह नहीं बता पाया कि हर साल चलने वाली इस मुहिम में कितने प्रतिशत या कितने पौधे जीवित रहते हैं।

जांच मामले में दोषी पाए गये वन संरक्षक

वन विभाग कि इसी कार्यप्रणाली के कारण हमेशा से ही पौधारोपण को लेकर सवाल खड़े होते रहे हैं। फिलहाल प्रशासन ने निलंबित करते हुए देहरादून डीएफओ कार्यालय में संबद्ध कर दिया है। बताया गया है कि प्रमुख वन संरक्षक की तरफ से पूर्व में प्लांटेशन को लेकर चल रही जांच मामले में दोषी पाए जाने के बाद ही यह कार्रवाई की गई है। हालांकि, इसके अलावा इस अधिकारी पर क्या कार्रवाई होगी यह अभी तय नहीं हो पाया है। लेकिन जिस तरह यह मामला सामने आया है उसके बाद प्रदेश भर में दूसरी जगहों पर भी पौधारोपण को लेकर बड़े स्तर पर ऑडिट की जरूरत महसूस की जा रही है।शासन की तरफ से इस वन विभाग के अधिकारी के खिलाफ हुई कार्रवाई के बाद बाकी अधिकारियों को भी एक बड़ा संदेश दिया गया है।

Read Also ..HPPSC News Updates: प्रदेश में बवाल के बाद डा. रचना गुप्ता का नाम हटा, अब IPS रामेश्वर ठाकुर बनें HPPSC के अध्यक्ष

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *